ㅤㅤ

Patra Lekhan in Hindi – पत्र लेखन हिंदी | Patra Lekhan in Hindi | पत्र लेखन एवं पत्र लेखन के प्रकार

Patra Lekhan in Hindi – पत्र लेखन हिंदी | Patra Lekhan in Hindi | पत्र लेखन एवं पत्र लेखन के प्रकार

अपने विचारों, भावों को शब्दों के द्‍वारा लिखित रूप में अपेक्षित व्यक्ति तक पहँुचा देने वाला साधन है पत्र ! हम सभी ‘पत्रलेखन’ से परिचित हैं ही । आज-कल हम नई तकनीक को अपना रहे हैं । संगणक, भ्रमणध्वनि, अंतरजाल, ई-मेल, वीडियो कॉलिंग जैसी तकनीक को अपने दैनिक जीवन से जोड़ने का प्रयास कर रहे हैं ।

 दूरध्वनि, भ्रमणध्वनि के आविष्कार के बाद पत्र लिखने की आवश्यकता कम महसूस होने लगी है फिर भी अपने रिश्तेदार, आत्मीय व्यक्ति, मित्र/सहेली तक अपनी भावनाएँ प्रभावी ढंग से पहॅुंचाने के लिए पत्र एक सशक्त माध्यम है । पत्रलेखन की कला को आत्मसात करने के लिए अभ्यास की आवश्यकता होती है । अपना कहना (माँग/शिकायत/अनुमति/विनती/आवेदन) उचित तथा कम-से-कम शब्दों में संबंधित व्यक्ति तक पहँुचाना, अनुरूप भाषा का प्रयोग करना एक कौशल है । 

अब तक हम जिस पद्‍धति से पत्रलेखन करते आए हैं, उसम नई तकनीक के अनुसार अपेक्षित परिवर्तन करना आवश्यक पत्रलेखन में भी आधुनिक तंत्रज्ञान/तकनीक का उपयोग करना समय की माँग है । आने वाले समय में आपको ई-मेल भेजने के तरीके से भी अवगत होना है । अतः इस वर्ष से ई-मेल के प्रारूप के अनुरूप पत्रलेखन की पद्‍धति अपनाना अपेक्षित है ।
Patra Lekhan in Hindi – पत्र लेखन हिंदी | Patra Lekhan in Hindi | पत्र लेखन एवं पत्र लेखन के प्रकार

औपचारिक पत्र | औपचारिक पत्र (Formal Letter Hindi)

औपचारिक पत्र 
—  प्रति लिखने के बाद पत्र प्राप्तकर्ता का पद और पता लिखना आवश्यक है । 
— पत्र के विषय तथा संदर्भ का उल्‍लेख करना आवश्यक है । 
— इसमें महोदय/महोदया शब्‍द द्‌वारा अादर प्रकट किया जाता है । 
— निश्चित तथा सही शब्दों में आशय की प्रस्तुति करना अपेक्षित है । 
— पत्र का समापन करते समय बायीं ओर पत्र भेजने वाले का नाम, पता लिखना चाहिए। 
 —ई-मेल में आई डी देना आवश्यक है ।

औपचारिक पत्र - औपचारिक पत्र उदाहरण सहित

  • प्रार्थना पत्र
  • निमंत्रण पत्र
  • सरकारी पत्र
  • गैर सरकारी पत्र
  • व्यावसायिक पत्र
  • किसी अधिकारी को पत्र
  • नौकरी के लिए आवदेन हेतु
  • संपादक के नाम पत्र इत्यादि।
1. प्रार्थना पत्र – विद्यालय में किसी भी प्रकार की समस्या से संबंधित प्रार्थना पत्र लिखा जाता है।
  • विद्यालय के प्रधानाचार्या
  • विद्यालय के मुख्याध्यापक
  • विद्यालय के मुख्यध्यापिका को अवकाश
  • शुल्क मुक्ति
  • आर्थिक सहायता के लिए पत्र
  • छात्रवृत्ति के लिए पत्र
2. आवेदन पत्र – किसी भी कंपनी यह संस्था में नौकरी के लिए आवेदन पत्र लिखा जाता है।

3. बधाई पत्र – जब भी हम किसी भी अधिकारी को उसी सफलता की उपलब्धि पर पत्र लिखते हैं उसे बधाई पत्र लेखन कहते हैं।

4. शुभकामना पत्र – किसी भी अधिकारी को जब हम किसी यात्रा या पदोन्नति की प्राप्ति पर पत्र लिखता है उसे शुभकामना पत्र लेखन कहते हैं।

5. व्यावसायिक पत्र – जब हम किसी व्यापारिक फैशन शो को पत्र लिखते हैं उसे व्यावसायिक पत्र कहता है।

6. शिकायती पत्र – जब हम किसी भी समस्या हो या  कठिनाई के आधारी पत्र लिखता है उसे शिकायती पत्र लेखन कहता है।

7. धन्यवाद पत्र – जब हम किसी भी कार्यक्रम यह विशेष उत्सव के लिए धन्यवाद देने के लिए पत्र लिखता है उसे धन्यवाद पत्र लेखन कहते हैं।

8. सांत्वना पत्र – जब हम किसी भी अधिकारी के स्वयं या उसी परिवार के सदस्य के साथ दुर्घटना ग्रस्त हादसा होने पर जब हम पत्र लिखते हैं उसे हम सांत्वना पत्र कहते हैं।

9. संपादकीय पत्र – जब हम किसी भी सरकारी अधिकारी को बात पहुंचाने के लिए समाचार पत्र के संपादक का माध्यम से अपनी बात पहुँचाते है तब वह पत्र को संपर्क किए पत्र लेखन कहते हैं।

औपचारिक पत्र - Formal Letter in Hindi

औपचारिक पत्र - Formal Letter in Hindi

अनौपचारिक पत्र | अनौपचारिक पत्र लेखन हिंदी 

अनौपचारिक पत्र 
—  संबोधन तथा अभिवादन रिश्तों के अनुसार आदर के साथ करना चाहिए । 
— प्रारंभ में जिसको पत्र लिख रहे हैं उसका कुशलक्षेम पूछना चाहिए । 
—  लेखन स्नेह/सम्मान सहित प्रभावी शब्दों और विषय विवेचन के साथ होना चाहिए। 
— रिश्ते के अनुसार विषय विवेचन में परिवर्तन अपेक्षित है। 
— इस पत्र में विषय उल्लेख आवश्यक नहीं है । 
— पत्र का समापन करते समय बायीं ओर पत्र भेजने वाले के हस्ताक्षर, नाम तथा पता लिखना है ।

अनौपचारिक (व्यक्तिगत) पत्र के प्रकार | अनौपचारिक पत्र - Informal Letter in Hindi

अनौपचारिक पत्र के प्रकार

  • बधाई पत्र
  • धन्यवाद पत्र
  • शुभकामना पत्र
  • निमंत्रण पत्र
  • सम्वेदना पत्र
  • अन्य विविध पत्र

अनौपचारिक पत्र लेखन के उदाहरण | Informal Letter in Hindi

अनौपचारिक पत्र 

1) सबसे पहले बाई ओर पत्र भेजने वाले का “पता” लिखा जाता है।
2) प्रेषक के पते के नीचे “तिथि” लिखी जाती है।
3) भेजने वाले का केवल नाम नहीं लिखा जाता है। यदि अपने से बड़ों को पत्र लिखा जा रहा है तो, “पूजनीय, आदरणीय, जैसे शब्दों के साथ उनसे संबंध लिखते है। जैसे – पूजनीय पिता जी। यदि अपने से किसी छोटे या बराबर के व्यक्ति को पत्र लिख रहे है तो उनके नाम के साथ प्रिय मित्र, बंधुवर इत्यादि शब्दों का प्रयोग किया जाता है।
4) इसके बाद पत्र का मुख्य भाग दो अनुच्छेदों में लिखा जाता है।
5) पत्र के मुख्य भाग की समाप्ति धन्यवाद सहित लिखकर किया जाता है।
6) अंत में प्रार्थी, या तुम्हारा स्नेही आदि शब्दावली का प्रयोग करके लेखक के हस्ताक्षर किए जाते है।

अनौपचारिक पत्र कैसे लिखें | Informal Letter Format in Hind 

अनौपचारिक पत्र कैसे लिखें | Informal Letter Format in Hind

♦ राजकीय संग्रहालय अल्मोड़ा में हिन्दी आशुलिपिक पद के लिए आवेदन पत्र लिखिए।

♦ राजकीय संग्रहालय अल्मोड़ा में हिन्दी आशुलिपिक पद के लिए आवेदन पत्र लिखिए।
3, शान्ति निकेतन,
नैनीताल-2 (उत्तराखण्ड)।
दिनांक 17-1-20xx
सेवा में,
निदेशक,
राजकीय संग्रहालय,
अल्मोड़ा (उत्तराखण्ड)।

विषय नौकरी पाने के सम्बन्ध में।

महोदय,
आपके 15 जनवरी, 20XX के दैनिक ‘हिन्दुस्तान’ में प्रकाशित विज्ञापन के अनुसार मैं ‘हिन्दी आशुलिपिक’ के पद के लिए अपनी सेवाएँ प्रस्तुत करता हूँ। मेरी योग्यता तथा अनुभव इस प्रकार हैं-

शैक्षिक योग्यताएँ
1. हाईस्कूल यू.पी. बोर्ड – प्रथम श्रेणी – 2005
2. इण्टरमीडिएट यू.पी. बोर्ड – द्वितीय श्रेणी – 2007
3. बी.ए. कुमाऊँ वि.वि. – द्वितीय श्रेणी – 2009
4. आई.टी.आई. (हिन्दी आशुलिपि) – बी ग्रेड – 2012

व्यावहारिक योग्यताएँ
1. हिन्दी आशुलिपि गति 120 शब्द प्रति मिनट।
2. हिन्दी टंकण गति 30 शब्द प्रति मिनट।
3. अंग्रेजी टंकण गति 40 शब्द प्रति मिनट।

अनुभव मैंने विगत 18 महीनों तक उपनिदेशक पशुपालन विभाग नैनीताल के कार्यालय में हिन्दी आशुलिपिक के पद पर कार्य किया है। योग्यता और अनुभव के अतिरिक्त मुझे पाठ्येतर कार्यकलापों में बड़ी रुचि रही है। मैं फुटबाल का अच्छा खिलाड़ी हूँ और कॉलेज की टीम का विश्वविद्यालय प्रतियोगिता में प्रतिनिधित्व कर चुका हूँ।

यदि उक्त पद पर सेवा करने का सुअवसर मिला तो मैं आपको आश्वासन देता हूँ कि अपने कार्य एवं व्यवहार से सदैव आपको सन्तुष्ट रदूंगा। प्रमाण-पत्रों की अनुप्रमाणित प्रतिलिपियाँ इस आवेदन-पत्र के साथ संलग्न हैं।

संलग्नक संख्या 7
भवदीय
सुरेश सक्सेना

शिकायती पत्र

अपने मुहल्ले के पोस्टमैन की कार्यशैली का वर्णन करते हुए पोस्टमास्टर को शिकायती पत्र लिखिए।

15, दूंगाधारा,
अल्मोड़ा (उत्तराखण्ड)।
दिनांक 13-4-20xx

सेवा में,
पोस्ट मास्टर,
उप-डाकघर पोखर खाली, अल्मोड़ा।

महोदय,
मैं आपका ध्यान मुहल्ला दूंगाधारा के पोस्टमैन की कर्तव्य-विमुखता की ओर आकर्षित करना चाहता हूँ। इस मुहल्ले के निवासियों की शिकायत है कि यहाँ डाक कभी भी समय से नहीं बँटती है। अतः यहाँ के निवासियों को बड़ी असुविधा है। आपसे निवेदन है कि इस मामले की जानकारी प्राप्त करके उचित कार्यवाही करने की कृपा करें, ताकि इस समस्या का निराकरण हो सके।
सधन्यवाद!

प्रार्थना पत्र  

Examples of Formal Letter-
औपचारिक पत्र के नमूने प्रार्थना पत्र / आवेदन पत्र
प्रधानाचार्य / मुख्याध्यापक को 

चिकित्सावकाश पर रहने के लिए प्रधानाचार्य को प्रार्थना पत्र Patra Lekhan Hindi .

परीक्षा भवन
नई दिल्ली
प्रधानाचार्य
अ० ब० स० स्कूल
फरीदाबाद

विषय : चिकित्सावकाश पर रहने हेतु प्रार्थना पत्र .

माननीय महोदय
विनम्र निवेदन है कि मुझे अचानक वायरल बुखार हो गया है . तेज बुखार तो है ही , साथ ही बदन में बहुत दर्द है . डाक्टर ने पाँच दिन तक आराम करने की सलाह दी है . अनुरोध है कि 10.03.20xx से 14.03.20xx तक पाँच दिन का चिकित्सावकाश देने की कृपा करें .

डाक्टर का चिकित्सा प्रमाण – पत्र स्वस्थ होने के बाद स्कूल आने पर कार्यालय में जमा करा दूँगा .

सधन्यवाद !

भवदीय
क० ख० ग०
कक्षा – ‘नौवी – अ’
दिनांक : 25 मार्च , 9921xx

अपने जन्मदिन पर मामा जी को बुलाने के लिए आलोक की ओर से एक निमंत्रण-पत्र लिखिए।

सी-23, सेक्टर-31
नोएडा
दिनांक: 10 अगस्त, 20XX
आदरणीय मामा जी

सादर नमस्कार
आशा है, आप सपरिवार आनंद से होंगे। हम सभी यहाँ सकुशल हैं । मामाजी इस बार ग्रीष्मावकाश पर आपसे मिलने न आ सका। इसके लिए क्षमा प्रार्थी हूँ। मैं अपने विद्यालय के मित्रों के साथ शिमला घूमने चला गया था सो न आ सका। आप सभी की याद बहुत आई थी। हर वर्ष आपके साथ एक सप्ताह बिताकर जो आनंद प्राप्त होता है उसका वर्णन नहीं कर सकता।

समाचार यह है कि इस बार मैं अपना जन्मदिन बड़ी धूमधाम से मनाने जा रहा हूँ। मेरी हार्दिक इच्छा है कि आप भी इस दिन मामी जी तथा भावेश के साथ मेरी इस खुशी में शामिल हों। मेरा जन्मदिन 20 अगस्त को है। मैं चाहता हूँ, आप 19 अगस्त को ही नोएडा पहुँच जाएँ। अगले दिन के कार्यक्रम की रूपरेखा बनाने में मुझे आपके सहयोग की आवश्यकता है। मैं जानता हूँ कि आप इस तरह के कार्यक्रमों का आयोजन सहज ही कर लेते हैं। इस अवसर पर आपके साथ काम करके मैं आपके सानिध्य में बहुत कुछ सीखना चाहता हूँ। आशा करता हूँ कि आप मुझे निराश नहीं करेंगे। मैं आपका इंतज़ार कर रहा हूँ।

आपका
Vaibhav

चुनाव प्रचार में देर रात तक लाउड स्पीकर से प्रचार करने के विरुद्ध शिकायत करते हुए चुनाव आयुक्त को पत्र लिखिए।

परीक्षा भवन
नई दिल्ली
दिनांक: 26 मार्च, 20XX
चुनाव आयुक्त, चुनाव आयोग,
दिल्ली सरकार,
नई दिल्ली।
विषय: लाउडस्पीकर पर देर रात तक चुनाव प्रचार पर रोक लगाने के संबंध में।

महोदय,
चुनाव के इस दौर में अपनी पार्टी को श्रेष्ठ साबित करने की होड़ में जुटी प्रचार समितियों ने नाक में दम कर दिया है। देर रात तक बज रहे भोपूओं से शहर का हर व्यक्ति परेशान है।

आपको ज्ञात ही है कि मार्च माह में सभी स्कूलों और कॉलेजों की परीक्षा शुरू हो जाती है। इस माह में वैसे तो चुनाव होने ही नहीं चाहिए। अब जब चुनाव हो ही रहे हैं तो कम-से-कम रात को तो इतना शोर नहीं होना चाहिए कि हम पढ़ ही न पाएँ। परीक्षा सिर पर है और चुनाव में खड़े प्रत्याशी होड़ में लगे हैं कि कौन किससे अधिक कान फोड़ शोर कर सकता है। हर परिवार में कोई-न-कोई परीक्षा देने वाला छात्र है। मेरे ही मुहल्ले में हम चार दोस्त बोर्ड की परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं। स्थिति यह है कि हम बिल्कुल भी पढ़ नहीं पा रहे हैं।

अतः आपसे अनुरोध है कि आप अपनी शक्तियों का प्रयोग करते हुए शाम 7 बजे के बाद लाउडस्पीकर प्रचार पर रोक लगाने का आदेश देने की कृपा करें ताकि हम सभी परीक्षा देने वाले छात्रों का भला हो सके। हम आपके अत्यंत आभारी होंगे।

सधन्यवाद

भवदीय
दिल्ली प्रदेश के सभी परीक्षार्थी


Patra Lekhan in Hindi – पत्र लेखन हिंदी | Patra Lekhan in Hindi | पत्र लेखन एवं पत्र लेखन के प्रकार

Patra Lekhan in Hindi – पत्र लेखन हिंदी | Patra Lekhan in Hindi | पत्र लेखन एवं पत्र लेखन के प्रकार

Patra Lekhan in Hindi – पत्र लेखन हिंदी | Patra Lekhan in Hindi | पत्र लेखन एवं पत्र लेखन के प्रकार

  • पत्र लेखन हिंदी pdf
  • पत्र लेखन हिंदी 10वी 2021
  • पत्र लेखन हिंदी औपचारिक
  • पत्र लेखन हिंदी pdf class 10
  • पत्र लेखन हिंदी format
  • पत्र लेखन हिंदी class 8
  • पत्र लेखन हिंदी pdf class 9
  • पत्र लेखन इन हिंदी
  • औपचारिक पत्र लेखन हिंदी मे
  • अनौपचारिक पत्र लेखन हिंदी में
  • औपचारिक पत्र लेखन हिंदी में
  • पत्र लेखन निबंध हिंदी में
  • पत्र लेखन हिंदी pdf class 6

Patra Lekhan in Hindi – पत्र लेखन हिंदी | Patra Lekhan in Hindi | पत्र लेखन एवं पत्र लेखन के प्रकार

अनुक्रमणिका  INDIEX

Maharashtra State Board 10th Std Hindi Lokbharti Textbook Solutions
Chapter 1 भारत महिमा
Chapter 2 लक्ष्मी
Chapter 3 वाह रे! हम दर्द
Chapter 4 मन (पूरक पठन)
Chapter 5 गोवा : जैसा मैंने देखा
Chapter 6 गिरिधर नागर
Chapter 7 खुला आकाश (पूरक पठन)
Chapter 8 गजल
Chapter 9 रीढ़ की हड्डी
Chapter 10 ठेस (पूरक पठन)
Chapter 11 कृषक गान

Hindi Lokbharti 10th Textbook Solutions दूसरी इकाई

Chapter 1 बरषहिं जलद
Chapter 2 दो लघुकथाएँ (पूरक पठन)
Chapter 3 श्रम साधना
Chapter 4 छापा
Chapter 5 ईमानदारी की प्रतिमूर्ति
Chapter 6 हम उस धरती की संतति हैं (पूरक पठन)
Chapter 7 महिला आश्रम
Chapter 8 अपनी गंध नहीं बेचूँगा
Chapter 9 जब तक जिंदा रहूँ, लिखता रहूँ
Chapter 10 बूढ़ी काकी (पूरक पऊन)
Chapter 11 समता की ओर
पत्रलेखन (उपयोजित लेखन)
गद्‍य आकलन (उपयोजित लेखन)
वृत्तांत लेखन (उपयोजित लेखन)

कहानी लेखन (उपयोजित लेखन)
विज्ञापन लेखन (उपयोजित लेखन)
निबंध लेखन (उपयोजित लेखन)

Post a Comment

Thanks for Comment

Previous Post Next Post